समाचार ब्यूरो
21/03/2023  :  20:06 HH:MM
भोजन से पहले बादाम सेवन से प्री-डायबिटीज लोगों के ब्लड शुगर में हो सकता है सुधार
Total View  893

प्री-डायबिटीजी और अधिक वजन/मोटापे वाले एशियाई भारतीयों के बीच दो नए अध्ययनों से पता चला है कि भोजन से पहले बादाम खाने से ब्‍लड शुगर नियंत्रण में सुधार होता है।

 à¤¨à¤¯à¥€ दिल्ली- भोजन से पहले बादाम खाने से प्री-डायबिटीज वाले कुछ लोगों में ब्लड शुगर के स्तर में सकता देखा गया है।

प्री-डायबिटीजी और अधिक वजन/मोटापे वाले एशियाई भारतीयों के बीच दो नए अध्ययनों से पता चला है कि भोजन से पहले बादाम खाने से ब्‍लड शुगर नियंत्रण में सुधार होता है। अध्ययन में शामिल लगभग एक-चौथाई लोगों के 12 सप्ताह में प्रीडायबिटीज की स्थिति को बदलते हुये सामान्य ब्लड शुगर के स्‍तर को हासिल करने का दावा किया गया है। तीन दिनों और तीन महीनों की अवधि में बादाम को लेकर किए गए दो नए शोध अध्ययनों प्री -डायबिटीज और अधिक वजन/मोटापा की समस्या से जूझ रहे एशियाई भारतीयों में ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के फायदे के बारे में बताये गये हैं।

दोनों अध्ययनों में, अध्ययन अवधि के दौरान नाश्ते, दोपहर के भोजन और रात के खाने से 30 मिनट पहले 60 लोगों ने एक छोटी मुट्ठी भर 20 ग्राम (0.7 औंस) बादाम खाया। बादाम को शामिल करने जैसी आहार रणनीतियों के माध्यम से समय के साथ बेहतर ग्लूकोज नियंत्रण मधुमेह की प्रगति को रोकने में मदद कर सकता है क्योंकि प्रीडायबिटीज वाले लगभग 70 प्रतिशत व्यक्ति अपने जीवनकाल में मधुमेह के मरीज बन जाते हैं।

दोनों अध्ययन रैंडमाइज्ड कंट्रोल्ड परीक्षण थे। शोधकर्ताओं ने यह परिकल्पना करते हुए माना कि प्रमुख भोजन से पहले बादाम का नाश्ता भोजन के बाद ग्लूकोज और इंसुलिन के उतार-चढ़ाव को कम करेगा और नियंत्रण आहार की तुलना में समग्र हाइपरग्लेसेमिया को कम करेगा।

इस शोध के प्रमुख लेखक और फोर्टिस-सी-डॉक सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर डायबिटीज, मेटाबोलिक रोग और एंडोक्रॉइनोलॉजी के प्रोफेसर व अध्यक्ष डॉ. अनूप मिश्रा ने कहा, “हमारे अध्ययनों के नतीजे बताते हैं कि आहार रणनीति के तहत बादाम ब्‍लड ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करने में एक महत्वपूर्ण अंतर हो सकता है। इन परिणामों से पता चलता है कि प्रत्येक भोजन से पहले बादाम के एक छोटे हिस्से के सेवन से भारत में एशियाई भारतीयों में केवल तीन दिनों में ग्लाइसेमिक नियंत्रण में तेजी से और काफी सुधार हो सकता है। मौखिक ग्लूकोज लोड से 30 मिनट पहले 20 ग्राम बादाम खाने से ब्‍लड शुगर और हार्मोन में उल्लेखनीय कमी देखी गई। बादाम के फाइबर, मोनोअनसैचुरेटेड वसा, जस्ता, और मैग्नीशियम के पोषण संबंधी तत्व बेहतर ग्लाइसेमिक नियंत्रण प्रदान करने और भूख को कम करने में मदद करने के लिए मिलकर काम करते हैं। परिणाम प्री-डायबिटीज की प्रगति को कम करने और लोगों को सामान्य ग्लूकोज स्तर में वापस लाने के लिए एक आशाजनक आहार रणनीति प्रदान करते हैं।”

न्यूट्रिशन रिसर्च ग्रुप, नेशनल डायबिटीज, ओबेसिटी एंड कोलेस्ट्रॉल फाउंडेशन की प्रमुख डॉ. सीमा गुलाटी ने कहा, “डायबिटीज के बढ़ते प्रसार को देखते हुए, प्रमुख भोजन से 30 मिनट पहले बादाम खाने जैसी आहार रणनीतियां भोजन के बाद ब्‍लड शुगर के स्तर में वृद्धि को कम करने का एक अच्छा विकल्प प्रदान करती हैं।”

 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4410427
 
     
Related Links :-
ग्लूकोमा मोतियाबिंद के बाद नेत्रहीनता का दूसरा सबसे बड़ा कारण
कोविड-19 पर पीआईबी का बुलेटिन
कोविड-19 पर पीआईबी का बुलेटिन
डॉ मनसुख मंडाविया ने भारत के कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम पर प्रकाश डालने वाले प्रतिस्पर्धात्मकता संस्थान की रिपोर्ट जारी की
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने सफदरजंग अस्पताल का दौरा किया, अस्पताल में सुधार उपायों पर विभाग के अध्यक्षों और कर्मचारियों की स्पष्ट प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए उनके साथ अनौपचारिक बातचीत की
उपराष्ट्रपति ने अच्छे स्वास्थ्य और बेहतर रहन-सहन के लिए शुद्ध पेयजल और स्वच्छता के महत्व पर ज़ोर दिया
राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की उपलब्‍धता
कोविड-19 टीकाकरण पर अपडेट- 403वां दिन
राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की उपलब्‍धता
निशुल्क स्वास्थ्य एवं नेत्र जांच शिविर लगाया