Breaking News
पूरी दिल्ली समेत वार्ड 64 पीतमपुरा में भी चलाया गया पोल खोल अभियान  |  दिल्ली में जलजमाव रोकने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी कर रही है केजरीवाल सरकार, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के साथ तैयारियों का जायजा लेने के लिए की समीक्षा बैठक  |  स्केटिंग क्लास के सचिव प्रदीप रावत की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार एसएमबी इंटर कॉलेज में स्केटिंग का स्पेशल समर कैम्प  |  केजरीवाल सरकार दिल्ली वालों को जल्द देगी 100 और मोहल्ला क्लीनिकों की सौगात, डिप्टी सीएम ने बैठक कर मोहल्ला क्लीनिकों को जल्द शुरू करने के दिए निर्देश  |  माननीय शिक्षा मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने 1 करोड़ ‘डिजिटल वर्क फोर्स’ तैयार करने के लिए ‘डिजिटल स्किलिंग’ प्रोग्राम की शुरुआत  |  मुंबई का सबसे बड़ा बीटूबी कपडे का फेयर २९ और ३० जून २०२२ को होटल सहारा स्टार में आयोजित होगा  |  केवाईएस ने सेंट स्टीफंस कॉलेज से आर्ट्स फैकल्टी तक स्टीफंस कॉलेज में दाखिले के इंटरव्यू लेने के भेदभावपूर्ण फैसले के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन!  |  हिन्दूराव अस्पताल में ज़म ज़म फाउन्डेशन ने शुरू किया वरिष्ठ नागरिक सेवा स्टॉल  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
06/06/2022  :  16:03 HH:MM
केवाईएस ने सेंट स्टीफंस कॉलेज से आर्ट्स फैकल्टी तक स्टीफंस कॉलेज में दाखिले के इंटरव्यू लेने के भेदभावपूर्ण फैसले के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन!
Total View  81


क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) ने आज सेंट स्टीफंस कॉलेज से आर्ट्स फैकल्टी, दिल्ली विश्वविद्यालय तक विरोध रैली का आयोजन किया। यह रैली स्टीफंस कॉलेज द्वारा प्रवेश के लिए इंटरव्यू के मानदंड को तत्काल समाप्त करने की मांग को लेकर आयोजित की गयी थी। इस संबंध में डीयू कुलपति को ज्ञापन भी सौंपा गया। ज्ञात हो कि डीयू में इस साल से कॉमन यूनिवर्सिटीज एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) लागू होने वाला है। हालांकि यह अपने आप में एक ऐसा कदम है जो औपचारिक मोड शिक्षा में प्रवेश पाने से बहुसंख्यक छात्रों को बाहर कर देगा, सेंट स्टीफंस कॉलेज ने कॉलेज में प्रवेश के लिए सीयूईटी स्कोर के अलावा एक साक्षात्कार मानदंड या इंटरव्यू वेटेज की घोषणा कर दी है। गौरतलब है कि सेंट स्टीफंस कॉलेज लंबे समय से दाखिले के लिए इंटरव्यू आयोजित कर रहा है। यह एक अभिजात्य और भेदभावपूर्ण परंपरा है क्योंकि साक्षात्कार आयोजित करने का एकमात्र कारण कॉलेज में प्रवेश के लिए सबसे विशिष्ट छात्रों का चयन करना है। वंचित पृष्ठभूमि के छात्रों को कॉलेज में प्रवेश पाने से रोकने के लिए ऐसे मानदंडों का लगातार उपयोग किया जाता है, और इस तरह प्रवेश देने और चुनिंदा कुलों और परिवारों के विशेषाधिकार को बनाए रखा जाता है। यह स्थिति बेहद भेदभावपूर्ण है, और शिक्षा में विशेषाधिकार समाप्त करने के खिलाफ जोतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले जैसे महान समाज सुधारकों के ऐतिहासिक संघर्षों के मूल्यों के विपरीत है। हर साल देश भर से हजारों छात्र दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों और विभागों में प्रवेश के लिए आवेदन करते हैं। कटऑफ प्रणाली पर यह सवाल उठाया जाता रहा है कि यह विशेषाधिकार-प्राप्त पृष्ठभूमियों के छात्रों के पक्ष में थी। परंतु इसके बावजूद अभी भी इसी तरह की नीति सीयूईटी के माध्यम से लायी जा रही है, जिसमें सीधे तौर पर निजी स्कूलों के छात्र जो बेहतर बुनियादी ढांचे और सुविधाओं के कारण अच्छे से शिक्षित हैं, वे सरकारी स्कूलों के छात्रों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन करेंगे। सरकारी विश्वविद्यालय में प्रवेश परीक्षाओं की यह भेदभावपूर्ण प्रवेश नीति संपन्न पृष्ठभूमि के छात्रों को विशेषाधिकार प्रदान करती है। यह तथ्य है कि डीयू आवेदकों की संख्या और विश्वविद्यालय में प्रवेश पाने वाले छात्रों की संख्या के बीच भारी अंतर को नजरअंदाज करता है, और डीयू की इसी पक्षपातपूर्ण दाखिला नीति पर सीयूईटी परीक्षा आधारित है। यह असल में विडंबना है कि जो लोग 12वीं कक्षा तक सरकारी स्कूलों में पढ़ते हैं, वे प्रमुख सरकारी वित्त पोषित उच्च शिक्षण संस्थानों से बाहर हैं। इसलिए, वंचित पृष्ठभूमि के छात्रों को औपचारिक-मोड उच्च शिक्षा में प्रवेश करने में सक्षम बनाने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने चाहिए। केवाईएस सेंट स्टीफन के भेदभावपूर्ण और अभिजात्य प्रशासन की कड़ी निंदा करता है, और मांग करता है कि इंटरव्यू को वेटेज देने के निर्णय को तत्काल रद्द कर दिया जाना चाहिए। इसके बजाय, सामान्य प्रवेश प्रक्रिया का पालन किया जाना चाहिए। साथ ही, संगठन यह भी मांग करता है कि प्रवेश प्रक्रिया में सरकारी स्कूल के छात्रों को 20% डेप्रिवेशन पॉइंट सुनिश्चित किया जाए, सीटों की संख्या बढ़ाई जाए और सभी रेगुलर कॉलेजों में ईवनिंग शिफ्ट भी शुरू की जाए। केवाईएस कल से नॉर्थ कैम्पस में इन मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरने का ऐलान करता है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2034567
 
     
Related Links :-
पूरी दिल्ली समेत वार्ड 64 पीतमपुरा में भी चलाया गया पोल खोल अभियान
दिल्ली में जलजमाव रोकने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी कर रही है केजरीवाल सरकार, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के साथ तैयारियों का जायजा लेने के लिए की समीक्षा बैठक
स्केटिंग क्लास के सचिव प्रदीप रावत की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार एसएमबी इंटर कॉलेज में स्केटिंग का स्पेशल समर कैम्प
केजरीवाल सरकार दिल्ली वालों को जल्द देगी 100 और मोहल्ला क्लीनिकों की सौगात, डिप्टी सीएम ने बैठक कर मोहल्ला क्लीनिकों को जल्द शुरू करने के दिए निर्देश
माननीय शिक्षा मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने 1 करोड़ ‘डिजिटल वर्क फोर्स’ तैयार करने के लिए ‘डिजिटल स्किलिंग’ प्रोग्राम की शुरुआत
मुंबई का सबसे बड़ा बीटूबी कपडे का फेयर २९ और ३० जून २०२२ को होटल सहारा स्टार में आयोजित होगा
हिन्दूराव अस्पताल में ज़म ज़म फाउन्डेशन ने शुरू किया वरिष्ठ नागरिक सेवा स्टॉल
गुस्ताख़ ए रसूल की गिरफ़्तारी के लिए विरोध प्रदर्शन का ऐलान
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित नव संकल्प शिविर में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने एक प्रस्ताव का अनुमोदन किया जिसमें श्री राहुल गांधी जी कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने का अनुरोध किया गया, प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित हुआ
दिल्ली के इंदिरा गाँधी स्टेडियम में विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर पर्यावरण मंत्री गोपाल राय द्वारा किया गया हरित उत्सव का शुभारम्भ