Breaking News
पूरी दिल्ली समेत वार्ड 64 पीतमपुरा में भी चलाया गया पोल खोल अभियान  |  दिल्ली में जलजमाव रोकने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी कर रही है केजरीवाल सरकार, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के साथ तैयारियों का जायजा लेने के लिए की समीक्षा बैठक  |  स्केटिंग क्लास के सचिव प्रदीप रावत की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार एसएमबी इंटर कॉलेज में स्केटिंग का स्पेशल समर कैम्प  |  केजरीवाल सरकार दिल्ली वालों को जल्द देगी 100 और मोहल्ला क्लीनिकों की सौगात, डिप्टी सीएम ने बैठक कर मोहल्ला क्लीनिकों को जल्द शुरू करने के दिए निर्देश  |  माननीय शिक्षा मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने 1 करोड़ ‘डिजिटल वर्क फोर्स’ तैयार करने के लिए ‘डिजिटल स्किलिंग’ प्रोग्राम की शुरुआत  |  मुंबई का सबसे बड़ा बीटूबी कपडे का फेयर २९ और ३० जून २०२२ को होटल सहारा स्टार में आयोजित होगा  |  केवाईएस ने सेंट स्टीफंस कॉलेज से आर्ट्स फैकल्टी तक स्टीफंस कॉलेज में दाखिले के इंटरव्यू लेने के भेदभावपूर्ण फैसले के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन!  |  हिन्दूराव अस्पताल में ज़म ज़म फाउन्डेशन ने शुरू किया वरिष्ठ नागरिक सेवा स्टॉल  |  
 
 
HACKED BY OVILESKINS HACKER AND BARCODES
18/11/2021  :  11:46 HH:MM
32 वें वार्षिकोत्सव पर सामवेद पारायण यज्ञ धूमधाम से संपन्न
Total View  148

गाजियाबाद,रविवार,14/11/2021 को आर्य समाज नया आर्य नगर मेरठ रोड के 32 वें वार्षिकोत्सव पर सामवेद पारायण यज्ञ सहारनपुर से पधारे वैदिक विद्वान श्री वीरेन्द्र कुमार शास्त्री के ब्रह्मत्व में धूमधाम से संपन्न हुआ,वेद पाठ आचार्य रामा शंकर,सत्य प्रकाश शास्त्री एवं कु.प्रियंका आर्या ने किया।

बिजनौर से पधारे सुप्रसिद्ध भजनोपदेशक श्री कुलदीप आर्य, कविता आर्या एवं साथी कला कारों ने ईश्वर भक्ति,दयानंद गुणगान एवं राष्ट्रभक्ति गीतों से समाबांध दिया जिसे सुनकर श्रोता झूम उठे।

राष्ट्र रक्षा सम्मेलन श्री श्रद्धानंद शर्मा की अध्यक्षता में प्रारंभ हुआ वेद वक्ता श्री माया प्रकाश त्यागी (कोषाध्यक्ष सार्वदेशिक आर्य प्रतिनिधि सभा दिल्ली) ने अपने उद्बोधन में कहा कि राष्ट्र का सम्मेलन तो आर्य समाज शुरू से करता आ रहा है। राष्ट्र के पुरोहित हम बनें और राष्ट्र रक्षा के लिए हमेशा तैयार रहें प्रत्येक नागरिक राष्ट्र रक्षा के काम में लगे तब कहीं राष्ट्र की रक्षा होगी चारों वर्ण ब्राह्मण,क्षत्रिय,वैश्य और शूद्र ।चारों को अपने शरीर में घटाया और बताया कि मुख् मंडल ब्राह्मण, बाजू क्षत्रिय,उदर वैश्य और पैर शूद्र यदि पैर ना हों तो तीनों नहीं ठहर सकते हैं शूद्र अछूत नहीं है ऋषि दयानंद इन्हें ऊंचा उठाया और आर्य समाज को आदेश दिया कि इन्हें हेयदृष्टि से मत देखना वेद ने मनुष्य को चार भागों में बांटा है।ब्राह्मण सही दिशा ना देगा तो लोग भटक जाएंगे क्षत्रिय रक्षा ना करें तो लोग लड़ लड़ के मर जाएंगे राष्ट्र की रक्षा चारों मिलकर करें। जनता को राष्ट्र कहते हैं सभी को साथ लेकर चलना है हम अपने लिए ना जिएं अपितु सब के कल्याण के लिए जिएं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   500115
 
     
Related Links :-
चुनाव, होली और हेल्दी हिदायतें
साईं बाबा का द्विदिवसीय सोलहवां वार्षिकोत्सव सोल्लास संपन्न
श्री हनुमान मंदिर की नई कार्यकारिणी गठित
सिद्ध पीठ बाबा बालक नाथ मंदिर मैं आज 3:00 से 6:00 होगा कीर्तन
सम्मान फाउंडेशन ने जरूरतमंद लोगों को बांटे कम्बल!
जीवन को सभ्यक व समग्र रूप से देखना ही योग है -आचार्य सत्यवीर शर्मा
मख्दूम माहिमी की दरगाह पर हुई चादर पेश
निरोगिता की कामना से हुई माता की चौकी
जेपी विद्या मंदिर चिट्टा में धूमधाम से मनाया गया बाल-दिवस